जिले के बारे में

रायबरेली जिला अंग्रेजों द्वारा 1858 में बनाया गया था अपने मुख्यालय शहर के बाद नामित किया था। परंपरा यह है कि शहर भरो द्वारा स्थापित किया गया था जो भरौली या बरौली के नाम से जानी जाती थी जो कालांतर में परिवर्तित होकर बरेली हो गयी ।उपसर्ग ‘राय’ का सम्बन्ध कायस्थ जो समय के एक अवधि के लिए शहर के स्वामी थे उपाधि के तौर पर ‘राय’ शीर्षक का प्रतिनिधित्व करता है।

8 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुवात थी और जिळा किसी भी अन्य स्थान के लोगों से पीछे नहीं था। फिर यहाँ जन गिरफ्तारी, सामूहिक जुर्माना, लाठी भांजना और पुलिस फायरिंग की गई थी। सरेनी में उत्तेजित भीड़ पर पुलिस ने गोलीबारी की जिसमे कई लोग शहीद हो गए और कई अपंग हो गए। इस जिले के लोग उत्साहपूर्वक व्यक्तिगत सत्याग्रह में भाग लिया और बड़े पैमाने में गिरफ्तारी दीं जिसने विदेशी जड़ो को हिलाकर रख दिया।

रायबरेली में  मुख्य सरकारी उपक्रम है : एन .टी . पी. सी . ऊंचाहार, रेल कोच फैक्ट्री लालगंज ,इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्री